International
  • I Want, Unwanted People. मै उसे चाहती हूँ, जिससे लोग नफरत करते है ।

    नमस्कार दोस्तो, 

       आप सभी को रोजगार प्रदान करने वाली संस्था - स्पेशल चाइल्ड वेलफेयर ऑर्गनाइजेशन मे हार्दिक स्वागत है । 

       दोस्तो, हमारे विचार से मानवता की सेवा करना ही सबसे बड़ा धर्म है दुनिया मे अधिकांश लोग सिर्फ अपने बारे मे सोचते है और जीते है, लेकिन उन्ही मे से कुछ लोग दूसरे के लिए परोपकार करते हुए सेवा भाव से अपना सारा जीवन अर्पित कर देते है और जीवन भर - बेसहारा, लाचार, गरीब, दरिद्र, असहाय, विवश, बेघर, निर्वस्त्र, लूले, बहरे, अंधे, लंगड़े, भूखे, चर्म, कुष्ठ, एड्स, शराबी, अनाथ, विधवा, मिर्गी, पागलपन एवं प्राकृतिक आपदाओ से ग्रसित लोगो की सेवा करना ही अपना मूल धर्म समझकर दिन - रात सेवा मे लगे रहते है । यही हृदयरूपी, करूणानिधि, नोबेल शांति पुरस्कार, भारतरत्न के उपाधि से सम्मानित, त्याग, बलिदान एवं समर्पण भाव से सम्पूर्ण जीवन अपने लिए नही, सिर्फ दूसरो के लिए ही सेवा करती रही है । उस मार्मिक आत्मा का नाम मदर टेरेसा है । 

       दोस्तो, ठीक इसी तरह संस्था के संस्थापक S.P सर ने भी लोगो के कल्याण के लिए पूर्ण रूप से काम किया है, जिसके माध्यम से हम और आप प्रत्यक्ष रूप से काम कर रहे है और अपना भविष्य निर्धारित कर रहे है । 

       दोस्तो, इसी संदर्भ मे मदर टेरेसा का अनमोल विचार ब्रम्हरूपी एकरूपता के समान उनके मुख से प्रकट हुई कि - मै उसे चाहती हूँ, जिससे लोग नफरत करते है, अर्थात् I Want, Unwanted People. 

       दोस्तो, आज मै एक सच्ची घटना के माध्यम से पूरे हिन्दुस्तान को बताने जा रहा हूँ । मै जिस जिले मे रहता हू, उस जिले का नाम औरंगाबाद है ।इस जिले के करीब से एक नदी बहती है, जिसका नाम अदरी नदी है।जब मै छोटा था, उस समय अर्थात 1980 -90 के दशक मे नदी बिल्कुल साफ रहती थी, नदी मे काफी बालू, रेत रहा करता था, कल -कल ,छल -छल करती हुई, निर्मल, निपुण नदी बहा करती थी ।जल इतना स्वच्छ कि आईना की तरह उसके अन्दर छिपा हुआ शिप दिखाई देता था ।रेत सोने की तरह चमकता रहता था ।गर्मी के दिनो मे इस नदी का पानी पिया करते थे ।नदी पार करने मे भी किसी प्रकार की कोई समस्या, हिचक नही थी ।वो दौर था, जब देश विकसित नही था, जनसंख्या और आबादी कुछ सामान्य थी ।उस समय उसे लोग चाहते थे ।

       दोस्तो, विकसित देश मे विकास इतना आगे बढ़ गया कि इस दौर मे लोग उस नदी से नफरत करने लगे ।गंदगी का अंबार बढ़ने लगा । न जाने कितने नाली के पानी उसमे गिरने लगी ।नदी का पानी विषैला, जहरीला, काला हो गया ।नदी के करीब से गुजरने पर इतना अधिक बदबू आती है कि नदी के तरफ देखने कि हिम्मत नही होती है ।नदी गंदगी ढोने वाली एक नाला बन गया इस नदी के करीब पुनपुन और सोन का भी हाल यही है ।आपके आसपास के नदी का हाल भी सेम इसी तरह से होगा ।हिन्दुस्तान मे शहर के करीब से बहने वाली सभी छोटी -बड़ी नदियों का हाल भी अदरी नदी की तरह ही बद से बदतर, बदबूदार हो गया है ।

       दोस्तो, प्राकृतिक सम्पदा को बर्बाद कर, विनाश कर हम विकास की बात करते है । 4G के जगह पर 5G की बात करते है ।बैलगाड़ी के जगह पर बुलेट ट्रेन और प्लेन की बात करते है । मंगल और चाँद पर बसने की बात करते है ।अरबो रूपये खर्चा कर राफेल का डील कर सकते है, पर एक छोटी नदी को हम नही बचा सकते है ।

       दोस्तो, स्वच्छ नदी को हम सब चाहते है, पर उसमे बहने वाली गंदगी से नफरत करते है । सिस्टम को हमसब चाहते है, पर उसमे फैली हुई गंदगी से लोग नफरत करते है । चुनाव चाहते है, पर चुनाव मे होने वाली धांधली, मार - काट से लोग नफरत करते है । मंत्री, सांसद, विधायक, पदाधिकारी को हमसब चाहते है, पर उनके क्रिया - कलाप से लोग नफरत करते है । न्याय चाहते है, पर विलम्ब न्याय, धीमी न्याय या तारीख -पे-तारीख से लोग नफरत करते है । 

       दोस्तो, आखिर कब तक ऐसा होता रहेगा? कब-तक बेरोजगारी की समस्या बनी रहेगी? कब-तक रोजगार के लिए लोग भटकते रहेंगे? कब-तक सहारा इंडिया की समस्या बनी रहेगी? कब-तक सहारा -सेबी का विवाद चलता रहेगा? कब-तक एक आम आदमी, मजदूर, किसान, विवश, बेघर, निर्वस्त्र, लाचार, असहाय, बेसहारा का निदान और निजात होगा? कब-तक देश का अर्थव्यवस्था डगमगाता रहेगा? हम -सब कब-तक अपना हक हिस्सा के लिए आपस मे झगड़ा करते रहेगे? कब-तक मान, सम्मान, आत्मसम्मान, धन, वैभव, प्यार, और आत्मविश्वास से वंचित रहेंगे? कब-तक एक -दूसरे पर दोषारोपण करते रहेंगे? कब-तक सम्मानित गरीब जमाकर्ता का भुगतान होगा? कब-तक कोरोना वायरस का डर बना रहेगा? कब-तक कालाबाजारी करते रहेंगे? कब-तक ऑक्सीजन की समस्या से जूझते रहेंगे? कब-तक लोगो के पास पैसो की किल्लत बनी रहेगी? कब-तक डर का महौल बना रहेगा? कब-तक परिवारिक कलह और गृहयुद्ध चलता रहेगा? 

       दोस्तो, उपर्युक्त समस्या से निदान पाने के लिए SPL संस्था से जुड़कर अपने मोबाइल से ही पार्ट -टाइम्स काम करके, घर बैठे, रोजगार प्राप्त कर अच्छी इन्कम कर सकते है, और अपने घर -परिवार का परवरिश कर सकते है ।विशेष जानकारी के लिए आप मेरे मोबाइल नंबर -7979775494 पर सम्पर्क कर सकते है ।यदि यह पोस्ट पढ़ने पर अच्छा लगे, तो शेयर, लायक, सब्सक्राइब और कमेन्ट जरूर करे, ताकि दूसरे को भी आपके माध्यम से मदद मिल सके ।  धन्यवाद ।।

    Jayram Kumar 

    Village -Jarmakhap 

    Po+ps+District -Aurangabad (Bihar )

    Spl study.com sponsor id -7979775494

    splcash.com Sponsor uid-46602 

    https://www.splcash.in/test/be-rich-2

    https://www.splcash.in/article/2

Editor Picks